Kahin Deep Jale Kahin Dil
Kahin Deep Jale Kahin Dil

Kahin Deep Jale Kahin Dil Lyrics Meanings
by Lata Mangeshkar

1961
1

Kahin Deep Jale Kahin Dil Lyrics

(?)

(?)

ओ ओ ओ ओ ओ
कहीं दीप जले कहीं दिल
ज़रा देख ले आ कर परवाने
तेरी कौन सी है मंज़िल
कहीं दीप जले कहीं दिल
ओ ओ ओ ओ ओ ओ ओ

मेरा गीत मेरे दिल की पुकार है
जहाँ मैं हूँ वहीं तेरा प्यार है
मेरा गीत मेरे दिल की पुकार है
जहाँ मैं हूँ वहीं तेरा प्यार है
मेरा दिल है तेरी महफ़िल
ज़रा देख ले आ कर परवाने
तेरी कौन सी है मंज़िल
कहीं दीप जले कहीं दिल

(?)

(?)

ओ ओ ओ ओ ओ
ना मैं सपना हूँ ना कोई राज़ हूँ
एक दर्द भरी आवाज़ हूँ
ना मैं सपना हूँ ना कोई राज़ हूँ
एक दर्द भरी आवाज़ हूँ
पिया देर न कर आ मिल
ज़रा देख ले आ कर परवाने
तेरी कौन सी है मंज़िल
कहीं दीप जले कहीं दिल

दुश्मन हैं हज़ारों यहाँ जान के
ज़रा मिलना नज़र पहचान के

दुश्मन हैं हज़ारों यहाँ जान के
ज़रा मिलना नज़र पहचान के
कई रूप में हैं क़ातिल
ज़रा देख ले आ कर परवाने
तेरी कौन सी है मंज़िल
कहीं दीप जले कहीं दिल
ओ ओ ओ ओ ओ ओ (?)
ओ ओ ओ ओ ओ ओ (?)
ओ ओ ओ ओ ओ ओ (?)
ओ ओ ओ ओ ओ ओ (?)

Writer(s): KUMAR HEMANT, Shakeel Baduyani
Copyright(s): Lyrics © Royalty Network
Lyrics Licensed & Provided by LyricFind

Kahin Deep Jale Kahin Dil Meanings

Be the first!

Post your thoughts on the meaning of "Kahin Deep Jale Kahin Dil".

End of content

That's all we got for #

What Does Kahin Deep Jale Kahin Dil Mean?

Attach an image to this thought

Drag image here or click to upload image

Latest Blog Posts
Lyrics Discussions
Hot Tracks
Recent Blog Posts