Kisi Ne Bhi To Na Dekha
Kisi Ne Bhi To Na Dekha

Kisi Ne Bhi To Na Dekha Lyrics Meanings
by Pankaj Udhas

2
Kisi Ne Bhi To Na Dekha Music Video

Kisi Ne Bhi To Na Dekha Lyrics

ये आरज़ू थी के हंसकर कोई मिला होता
कही तो हमसे किसी का दिल आशना होता

किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे
गया फिर आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे
गया फिर आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे

सबा भी लायी न कोई पयाम अपनों का
सबा भी लायी न कोई पयाम अपनों का
सुना रही है फ़साने इधर उधर के मुझे
गया फिर आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे

माफ़ कीजे जो मैं अजनबी हूँ महफिल मे
माफ़ कीजे जो मैं अजनबी हूँ महफिल मे
के रास्ते नहीं मालूम इस नगर के मुझे
गया फिर आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे

वो दर्द है के जिसे सह सकूँ न केह पाऊँ
वो दर्द है के जिसे सह सकूँ न केह पाऊँ
मिलेगा चैन तो अब जान से गुजरके मुझे
गया फिरा आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे
गया फिर आज का दिन भी उदास करके मुझे
किसी ने भी तो न देखा निग़ाह भरके मुझे
निगाह भरके मुझे
निगाह भरके मुझे

Writer(s): ANAND-MILIND, MAJROOH SULTANPURI
Copyright(s): Lyrics © Royalty Network
Lyrics Licensed & Provided by LyricFind

Kisi Ne Bhi To Na Dekha Meanings

Be the first!

Post your thoughts on the meaning of "Kisi Ne Bhi To Na Dekha".

End of content

That's all we got for #

What Does Kisi Ne Bhi To Na Dekha Mean?

Attach an image to this thought

Drag image here or click to upload image

Lyrics Discussions
by Rymdstoft

1

24
by Blackbear

1

824
Hot Tracks
Low
by SZA

0

75
Recent Blog Posts